Mera Dard.

मेरा दर्द एक दर्द है

मेरी राहें बस मेरा एक फ़र्ज़ है

जिसे मैं ना चाहते हुए भी पाना चाहता हूँ

मैं कभी नहीं पहुँचूँगा अपनी मंज़िल तक

ऐसा मुझे डर है

जो वक़्त गुज़र गया वही मेरा गम है

मैं ना चाहते हुए भी किसी और मंज़िल

तक घसीटता चला जाऊंगा

किसी को खुशी तो किसी को रुलाऊँगा

मेरा दिल मुझ से बार बार कहेगा कि

‘अबी’ ये ही ज़िन्दगी है।

Chehra.

जो उसका चैहरा है

मैंने सालों पहले देखा था

मगर वो अब तक मेरे दिल में ठहरा है

वो इश्क़ करने के लिए बनी थी

मैं उसको इश्क़ की नज़रों से देखता था

जो उसका नूर है वो अब तक

मेरे दिल में दे रहा पहरा है

वो मुझ से कोसों दूर है बस तस्वीर

साथ में लेकर उसे ढूँढ़ रहा हूँ मैं

गलियों में शहरों में, लोगों से

उसके बारे में पूछ रहा हूँ मैं

उसका चैहरा मैं कुछ हद तक भूल चुका हूँ

बस उसका नाम याद है

ये कम्बख्त दिल उसे आजतक ढूंढ़ रहा है

‘अबी’ क्या कर सकता है

इस दीवाने को दिल लगाने की आदत है

वो उसके बिना हर दिन मर रहा है

जो उसका चैहरा है

मैंने सालों पहले देखा था

मगर वो अब तक मेरे दिल में ठहरा है।